Mr. GYAN

फर्स्ट AC सेकंड AC और थर्ड AC के बीच क्या अंतर होता है

फर्स्ट AC सेकंड AC और थर्ड AC के बीच क्या अंतर होता है
फर्स्ट AC सेकंड AC और थर्ड AC के बीच क्या अंतर होता है

फर्स्ट AC सेकंड AC और थर्ड AC के बीच क्या अंतर होता है?

दोस्तों बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो रेलवे मे फर्स्ट AC सेकंड AC और थर्ड AC के बीच क्या अंतर होता है ये नहीं जानते हैं। और वह लोग सोचते है की फर्स्ट एसी सेकंड ऐसी और थर्ड एसी में सिर्फ किराया का अंतर होता है, तो आपको बता दें ऐसा बिल्कुल नहीं है. बल्कि अलग-अलग कैटेगरी में किराए के साथ-साथ की बुनियादी सुविधाएं भी दी जाती हैं. आमतौर पर लोग यही मानते की रेलवे के अलग-अलग कोच में सिर्फ किराया का अंतर होता है. दोस्तों आज हम इसी बारे में बात करने वाले की रेलवे में फर्स्ट सेकंड थर्ड AC मे क्या अंतर होता है?

फर्स्ट AC – 1st AC

फर्स्ट AC रेलवे का सबसे महंगा क्लास होता है, और इसका किराया चलने वाले एयरलाइन से से कम नहीं होता है. यह पूरा कोच एयर कंडीशन होता है और यह सिर्फ मेट्रोपोलिटन शहरों की चुनिंदा रूट के लिए उपलब्ध होता है. बता दे कि ऐसी कोच में 18 यात्रियों के लिए सीट होती. जबकि एलएचबी कोच में 24 यात्री तक बीठाई जा सकते हैं. और इस कैटेगरी के कोच में कारपेट बिछाया होता है. बारिश कोच में सोने के साथ साथ निधि लग्जरी की सुविधा भी होती हैं. इसके अलावा इन कोचस में मिलने वाला खाना भी काफी बेहतर होता है.

सेकंड एसी – 2nd AC

दोस्तों रेलवे का सेकंड एसी कोच भी स्लीपिंग इसी के साथ एयर कंडीशन होता है। इसमें एप्पल लैब रूम होता है, पर्दे होते हैं और इंडिविजुअल एलईडी लैंप भी लगा भी लगा लगा होता है। आपको बता दें कि इस कोच में सीटें 6 सेक्शन में 2 लेवल में बटी होती है, और चार सीटें सीटें कोच के चौराहा फैली हुई और दो सिटी साइड साइड सिटी साइड साइड में होती है. प्राइवेसी का ख्याल रखते हुए हर सीट पर एक पर्दा लगा होता है. आपको बता दें कि 2nd एसी कोच में 40 यात्रियों सफर कर सकते हैं, वही एलएचबी कोच में 52 यात्री सफर कर सकते हैं.

थर्ड एसी – 3rd AC

थर्ड एसी दोस्तों यह कोच भी स्लीपिंग इसी के साथ एयर कंडीशन होता है. हालांकि इसकी सीटें भी भी सेकंड एसी की तरह व्यवस्थित होती है. लेकिन इसमें चौड़ाई के दौरान 3 टीयर होते हैं, और इसमें पढ़ने के लिए किसी भी प्रकार का कोई भी लैंप नहीं लगा होता. बता दें कि कि थर्ड एसी कोच को पहले से और अच्छी तरीके से बनाने की कोशिश किए जा रहे हैं. दोस्तों इस में उपलब्ध कराए जाने वाले उपलब्ध कराए जाने वाले बेडिंग का खर्चा अपने किराए में शामिल होता है. स्लीपर क्लास के मुक़ाबले थोड़ा ज्यादा स्पेस होता है. दोस्तों एक स्लीपर कोच में 72 यात्री सफर कर सकते हैं थर्ड एसी कोच में 64 यात्री सफर कर सकते हैं. और यह स्लिपर क्लास के बाद रेलवे का सबसे अप्पर लेवल क्लास है.

दोस्तों उम्मीद है अब आप समझ गए होंगे कि रेलवे के फर्स्ट एसी एसी सेकंड एसी और थर्ड एसी में क्या अंतर होता है दोस्तों मुझे उम्मीद है, यह जानकारी आपको पसंद आई होगी, अगर पसंद आए तो तो लाइक करें दोस्तों के साथ शेयर कीजिए, और मुझे फॉलो करना ना भूले. तो मिलते ऐसे ही नए आर्टिकल के साथ तब तक के लिए धन्यवाद आपका दिन शुभ रहे.

Likes(2)Dislikes(0)
Tags

admin

नमस्कार दोस्तों, मैं Sachin, HJ News का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Enginnering Graduate हूँ. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close

Adblock Detected

Please Disable AddBlocker